Badi Bijasan Mata History of Hindi / बड़ी बिजासन माता का इतिहास.

Badi Bijasan Mata History of Hindi / बड़ी बिजासन माता का इतिहास.
Badi Bijasan Mata History of Hindi / बड़ी बिजासन माता का इतिहास.

Badi Bijasan Mata History of Hindi / बड़ी बिजासन माता का इतिहास.

बड़ी बिजासन माता मंदिर का इतिहास 300 साल पुराना है। यहां देवी के नौ रूप हैं। देश में ऐसे कई मंदिर और धार्मिक स्थल हैं। ऐसे कई मंदिर हैं जिनके रहस्य न केवल अद्भुत हैं, बल्कि जो उनसे जुड़ी मान्यताओं को खास बनाते हैं। जी हाँ, आज हम आपको एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे बेहद चमत्कारी माना जाता है. ( Badi Bijasan Mata History of Hindi )
 
खास बात यह है कि इससे जुड़ा चमत्कार भी कोई साधारण चमत्कार नहीं बल्कि ऐसा चमत्कार है जिसके बारे में पहली बार जानने वाला विश्वास नहीं कर सकता। तो आइए हम आपको बताते हैं बड़ी बिजासन माता मंदिर का इतिहास देवी के इस चमत्कारी और अद्भुत धार्मिक स्थल मंदिर के बारे में। ( Badi Bijasan Mata History of Hindi )
 
विशेषता: बड़ी बिजासन माता को शुभ माना जाता है। इसलिए बड़ी बिजासन माता मंदिर में शादी के बाद राज्य ही नहीं बल्कि पूरे देश से नवविवाहित जोड़े मां के दर्शन और पूजा करने आते हैं।
 
वास्तुकला: तत्कालीन शासक ने यहां एक साधारण मिट्टी, पत्थर के मंच पर विराजमान माता के नौ रूपों के लिए शैली में एक मंदिर बनवाया। बाद में कई विकास कार्य किए गए।
 
  • मंदिर से संबंधित कार्यक्रम: चैत्र और शारदीय नवरात्रि के दौरान मंदिर में मेला लगता है। एक अनुमान के मुताबिक, नवरात्रि के दौरान देश भर से 3 लाख से ज्यादा श्रद्धालु यहां दर्शन और पूजा के लिए आते हैं
  • आपको बता दें कि हम मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित प्रसिद्ध बड़ी बिजासन माता मंदिर के दर्शन कर रहे हैं, जो भक्तों के बीच बहुत लोकप्रिय है। इसलिए यहां हर नवरात्रि में भक्तों का मेला लगा रहता था।
 
सातपुड़ा की पर्वत श्रंखला में विराजमान बड़ी बिजासन माता बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ गौ रक्षा का संदेश दे रही है। वर्षों से चल रहे शिवाजी विद्यालय और गोशाला मंदिर क्षेत्र में चल रहे हैं जो सेंधवा से 16 किमी दूर है। ( Badi Bijasan Mata History of Hindi ) गरीब बच्चों को विद्यालय के माध्यम से नि:शुल्क आवासीय शिक्षा प्रदान की जा रही है, जबकि गोशाला में 164 गायों की देखभाल की जा रही है। इन सेवाओं को मां बड़ी बिजासन ट्रस्ट चला रहा है। भक्तों की सहायता और दान से धर्मार्थ कार्य किए जाते हैं।
 

बड़ी बिजासन माता मंदिर की 20 साल की नि:शुल्क सेवा। ( Badi Bijasan Mata History of Hindi )

 
यह करीब 20 साल से गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा और 10 साल से आवासीय सुविधा मुहैया करा रही है। आठवीं कक्षा तक 250 छात्रों को शिक्षा दी जाती है। मंदिर ट्रस्ट की आवासीय शिक्षा व्यवस्था पर सालाना करीब लाख रुपये खर्च होते हैं। मां बड़ी बिजासन ट्रस्ट के अध्यक्ष एस. वीरा स्वामी ने कहा कि उन्होंने गौशाला के लिए कभी गाय नहीं खरीदी।
जब पशु तस्करी के दौरान पुलिस द्वारा जब्त की गई कमजोर और दुधारू गायों को नहीं पाला जाता है तो उन गायों को मां बड़ी बीजासन गोशाला में रख कर परोसा जाता है. मंदिर ट्रस्ट के उपाध्यक्ष मोहन जोशी ने बताया कि सरकारी स्तर से हर साल डेढ़ से दो लाख रुपये की सब्सिडी मिलती है, जबकि एक साल में गौ सेवा पर 30 लाख रुपये से ज्यादा खर्च होता है.
 

बड़ी बिजासन माता मंदिर का 300 साल से अधिक पुराना मंदिर. ( Badi Bijasan Mata History of Hindi )

 
बड़ी बिजासन माता का प्राचीन मंदिर मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की सीमा पर मुंबई-आगरा राजमार्ग पर सातपुड़ा पर्वत श्रृंखला की तलहटी में स्थित है। यह मंदिर 300 साल से भी ज्यादा पुराना है। मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात के हजारों भक्त मंदिर में आते हैं। अब तक मंदिर का तीन बार जीर्णोद्धार किया जा चुका है।
अनादि काल से माता प्राकृतिक रूप से पिंडी के रूप में वास करती हैं। ऐ बड़ी बिजासन माता महाराष्ट्रीयन समाज की देवी हैं इसलिए महाराष्ट्रीयन समाज में भक्तों की संख्या हजारों में है। चैत्र नवरात्र के शुरू होते ही पूजा अर्चना से बड़ी मात्रा में  पूर्ण होते हैं।
 

नवरात्र के दिनो में माता के दर्शन. ( Badi Bijasan Mata History of Hindi )

 
चैत्र नवरात्र के शुरू होते ही पूजा अर्चना से बड़ी मात्रा में मन्त्र पूर्ण होते हैं। माता के दर्शन करने आने वाले भक्तों का कहना है कि बड़ी बिजासन माता सभी की मनोकामना पूर्ण करती है। जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि बड़ी बिजासन माता महाराष्ट्र के साथ-साथ गुजरात और मध्य प्रदेश की भी पूज्य देवी हैं।
Related Post : 

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *